Increase |  Decrease |  Normal

Current Size: 100%

Share this
Syndicate content

ईराकी युद्ध अभिलेख

डैनियल एल्सबर्ग

23 अक्टूबर, 2010

[पाँच बजे शाम ई एस टी, शुक्रवार 22 अक्टूबर 2010 को विकिलीक्स ने इतिहास में गुप्त सैनिक अभिलेखों का सबसे बड़ा संकलन जनता के सामने जारी किया। ये 391,832 रिपोर्टें ('ईराकी युद्ध अभिलेख') ईराक में युद्ध और कब्ज़े का ब्यौरा देती हैं, 1 जनवरी 2004 से 31 दिसंबर 2009 तक (मई 2004 तथा मार्च 2009 के महीनों को छोड़ कर), सीधे संयुक्त राज्य अमरीका के सैनिकों के शब्दों में। इनमें से हर एक 'सिगऐक्ट' यानी युद्ध में उल्लेखनीय कृत्य है। ये घटनाओं का बिल्कुल वही विवरण देते हैं जो अमरीकी सेना ने ईराक में ज़मीनी तौर पर देखा और सुना, और ये युद्ध के गुप्त इतिहास में पहली वास्तविक झलक हैं तथा जिनसे अमरीकी सरकार शुरू से ही वाकिफ़ रही है।

रिपोर्टें ईराक मे 109,032 मौतों का ब्यौरा देती हैं, जिनमें से 66,081 'असैनिक', 23,984 'शत्रु' (जिन्हें विप्लवी कहा गया), 15,196 'मेज़बान राष्ट्र' (ईराकी सरकारी सैनिक) तथा 3,771 'मित्र' (गठबंधन फ़ौजें) हैं। इनमें बहुसंख्य (66,000, यानी 60% से ऊपर) असैनिकों की मौतें हैं। इसका अर्थ है 31 असैनिक नागरिकों की हर रोज़ छह साल तक लगातार मौत। तुलना के लिए, अफ़गान युद्ध अभिलेख, विकिलीक्स द्वारा कुछ समय पूर्व जारी, जो भी इसी अवधि के बारे में हैं, में 20,000 लोगों की मौत का ब्यौरा है। ईराक युद्ध इसी दौरान, जनसंख्या लगभग उतनी ही होने के बावजूद, पाँच गुना घातक साबित होता है।]

हुआन गोंज़ालेज़: ह्विसल्ब्लोअर संगठन विकिलीक्स की योजना है कल अमरीकी गुप्त दस्तावेजों के इतिहास के सबसे बड़े संकलन को जारी करने की। अपेक्षा है कि यह संगठन ईराक युद्ध के बारे में करीब 400,000 खुफ़िया रिपोर्टों को जारी करेगा। विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज लंदन में शनिवार सुबह प्रेस कौन्फ़रेंस आयोजित कर रहे हैं जिसमें यह उद्घोषणा की जाएगी।

इन दस्तावेजों का सामने आना अमरीकी इतिहास में सबसे बड़ा सार्वजनीकरण होगा, अफ़गानिस्तान युद्ध के उन 91,000 दस्तावेजों से कहीं अधिक जिन्हें विकिलीक्स ने पहले इस वर्ष गर्मियों में जारी किया था।

अमरीकी सरकार इसके परणामों से निपटने की तैयारी की दौड़ में लगी है। रक्षा गुप्तचर एजेंसी के सौ से अधिक विश्लेषक उन वर्गीकृत ईराक दस्तावेजों को छानने में लगे हैं जिन्हें उनके विचार में जारी किया जाएगा।

एमी गुडमैन: विकिलीक्स को तब अमरीकी सरकार की भारी निंदा का सामना करना पड़ा जब उसने 91,000 अफ़गान युद्ध अभिलेखों को जुलाई में जारी किया। व्हाइट हाउस और पेंटागन ने वेबसाइट पर ग़ैर-ज़िम्मेदारी का आरोप लगाया। उन्होंने दावा किया कि इससे लोगों की जान खतरे में पड़ जाएगी। लेकिन असोसिएटेड प्रेस को हाल ही में एक पेंटागन पत्र मिला जिसके अनुसार को अमरीकी गुप्तचर स्रोत या तरीकों का खुलासा इस सार्वजनीकरण से नहीं हुआ है।

तब भी, विकिलीक्स का कहना है कि उसे अमरीकी सरकार द्वारा निशाना बनाया जा रहा है। अफ़गान युद्ध अभिलेखों के सार्वजनीकरण के बाद कथित रूप से अमरीकी सरकार ने ब्रिटेन, जर्मनी, ऑस्ट्रलिया तथा अन्य पश्चिमी सरकारों से जूलियन असांज पर आपराधिक जाँच चलाने तथा उसकी अंतर्राष्ट्रीय यात्रा को अवरोधित करने के लिए कहा। सबसे हाल की बात यह है कि विकिलीक्स ने अमरीका पर उसे वित्तीय युद्ध का निशाना बनाने का आरोप लगाया है। पिछले हफ़्ते जूलियन असांज ने कहा कि जो कंपनी विकिलीक्स को दिए गए अभिदान को इकट्ठा करती है उसने विकिलीक्स से अपना करार खत्म कर दिया जब अमरीका और ऑस्ट्रेलिया ने इस संगठन को कालीसूची में डाल दिया। इसी दौरान सेना के गुप्तचर विश्लेषक ब्रैडले मैंनिंग मई से कैद में हैं, जबसे उन्हें एक अमरीकी सेना के एक हेलीकॉप्टर द्वारा बग़दाद में निर्दोष ईराकियों के एक समूह की हत्या के वीडियो के सार्वजनीकरण के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।

और अधिक जानने के लिए हम यहाँ अपने न्यूयॉर्क स्टूडियो में डैनियल एल्सबर्ग का स्वागत करते हैं, जो कि देश के सबसे प्रसिद्ध ह्विसल्ब्लोअर हैं। उन्होंने ही वियतनाम युद्ध के गुप्त इतिहास को 1971 में सार्वजनिक किया था।वे आज रात लंदन जा रहे हैं। वे वहाँ शनिवार को विकिलीक्स की प्रेस कौन्फ़रेंस में भाग लेंगे।

डैन एल्सबर्ग, डेमोक्रेसी नाउ में आपका स्वागत है! क्या आप उन 400,000 पृष्ठों या दस्तावेजों के बारे बात कर सकते हैं जिन्हें जारी किए जाने की अपेक्षा है?

डैनियल एल्सबर्ग: चार लाख दस्तावेज़, जैसा बताया जा रहा है। यह सार्वजनीकरण, जाहिर है, इतने बड़े परिमाण में है जिसकी मैं चालीस साल पहले बिना स्कैनरों तथा डिजिटल क्षमता के कल्पना भी नहीं कर सकता था। मैंने तब की सबसे विकसित तकनीकी, ज़ीरॉक्स, का इस्तेमाल किया था, और मैं वैसा भी उससे दस साल पहले तक नहीं कर सकता था।

एमी गुडमैन: आपने 7,000 पृष्ठों को फोटोकॉपी किया?

डैनियल एल्सबर्ग: हाँ। इसमें बहुत समय लगा, एक बार में एक पृष्ठ। तो वर्तमान की तकनीकी क्षमता से मुझे काफ़ी जलन होती है। पर मुझे विकिलीक्स जो कर रही है उसके प्रति, और खास तौर पर उसके स्रोतों के प्रति अपना समर्थन प्रकट करते हुए खुशी होती है। जिन्होंने भी यह जानकारी विकिलीक्स को दी उन्हें साफ़ तौर पर पता है कि उन्हें भी वहाँ पहुँचने का खतरा है जहाँ ब्रैडले मैंनिंग है: आरोपित होकर जेल में। हमें नहीं पता - मुझे नहीं पता कि स्रोत कौन था। और अगर ब्रैडले मैंनिंग को सेना द्वारा, शक से परे, स्रोत होना साबित कर दिया जाता है तो ऐसा करने के लिए उनको मेरी सराहना और धन्यवाद होगा। मैंने भी वैसा ही खतरा चालीस साल पहले उठाया था, और यह मुझे हमेशा उपयुक्त लगा है कि किसी अफ़गानिस्तान या ईराक जैसे युद्ध की अवधि घटाने के लिए जेल में अपनी ज़िंदगी बिताने तक का खतरा उठाया जाए। हम तब भी वियतनाम में यही सब सह रहे थे। और यह गोपनीयता थी - गोपनीयता, गलत गोपनीयता, ऐसी ही जानकारी की, जिसने हमें वियतनाम और अफ़गानिस्तान और ईराक युद्ध में ढकेला, और जिसके कारण अफ़गानिस्तान और ईराक युद्ध अभी तक चल रहे हैं। तो अगर इसे घटाने की कोई भी संभावना है तो उसके लिए एक व्यक्ति का अपनी जान भी दाँव पर लगाना जायज़ है।

हुआन गोंज़ालेज़: और नुकसान नियंत्रण की जिस हद तक सेना अभी लगी हुई है, दस्तावेजों के जारी होने की तैयारी में, उस सबसे आपको ज़रा भी आश्चर्य होता है?


लेखक विषय संवाद साभार अनुवादक

पहले वो आए साम्यवादियों के लिए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं साम्यवादी नहीं था

 

फिर वो आए मजदूर संघियों के लिए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं मजदूर संघी नहीं था

 

फिर वो यहूदियों के लिए आए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं यहूदी नहीं था

 

फिर वो आए मेरे लिए

और तब तक बोलने के लिए कोई बचा ही नहीं था

 

मार्टिन नीमोलर (1892-1984)