Increase |  Decrease |  Normal

Current Size: 100%

Share this
Syndicate content

बॉब डिलन

Bob Dylan

उनके खेल में बस एक मोहरा

बॉब डिलन

[बॉब डिलन को बहुत से लोग केवल गायक व गीतकार ही नहीं बल्कि कवि भी मानते हैं। यह गीत बॉब डिलन ने जून 1963 में नागरिक अधिकार कार्यकर्ता मेडगर एवर्स की हत्या के बारे में लिखा था। यह संयुक्त राज्य अमरीका के दक्षिण में तब (और कुछ हद तक अब भी) व्याप्त रंगभेद के बारे में है जहाँ मेडगर एवर्स का हत्यारा कई साल तक आज़ाद घूमता रहा। यह डिलन के बेहतरीन गीतों में से एक माना जाता है। मार्टिन लुथर किंग ने जब 28 अगस्त 1963 को 'वॉशिंगटन मार्च' के अंतर्गत अपना प्रसिद्ध भाषण 'आई हैव अ ड्रीम' खत्म किया था तो उसके बाद भी डिलन ने यह गीत वहाँ गाया था। गीत का, और वो भी इतने ऐतिहासिक गीत का अनुवाद करना जोखिम का काम है, पर कोशिश तो की ही जा सकती है...]

Syndicate content

लेखक विषय संवाद साभार अनुवादक

पहले वो आए साम्यवादियों के लिए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं साम्यवादी नहीं था

 

फिर वो आए मजदूर संघियों के लिए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं मजदूर संघी नहीं था

 

फिर वो यहूदियों के लिए आए

और मैं चुप रहा क्योंकि मैं यहूदी नहीं था

 

फिर वो आए मेरे लिए

और तब तक बोलने के लिए कोई बचा ही नहीं था

 

मार्टिन नीमोलर (1892-1984)